सिख कम्यूनिटी ने फंसे ड्राइवरों के लिए लंगर लगाया, बी.सी. फलड एड के लिए जुटाया पैसा

बाढ़ की वजह से सड़कों और पुलों के बह जाने के बाद, सिख समुदाय ने बी.सी. प्रोविंस में फंसे ट्रक ड्राइवरों की ओर राहत का हाथ बढ़ाया है। उन्होंने इस आपदा से प्रभावित अन्य लोगों के लिए भी मदद का हाथ बढ़ाया है।

कैमलूप्स, बी.सी. में स्थित कैमलूप्स गुरुद्वारा साहिब सोसाइटी के अध्यक्ष दलबीर सिंह गिल ने कहा कि उनके संगठन ने क्षेत्र में 400 ट्रकर्स की मदद की है।

उन्होंने कहा, “बाढ़ के कारण सड़कों पर फंसे कुछ ट्रकर्स अब आगे बढ़ रहे हैं। हालात अभी भी अच्छे नहीं हैं, लेकिन वे बेहतर हो रहे हैं।”

कैमलूप्स, बी.सी. में स्थित कैमलूप्स गुरुद्वारा साहिब सोसाइटी में व्लंटीयर भोजन तैयार करते हुए। (कैमलूप्स गुरुद्वारा साहिब सोसाइटी)

कुछ ड्राइवर 30, 40 या 50 के समूहों में फंसे हुए थे। गिल ने कहा, “हमने वह सब कुछ किया जो हम कर सकते थे। हमने गुरुद्वारे में खाना बनाया और जहां भी वे फंसे थे, उन तक पहुंचा दिया। वे जो भी चाहते थे हमने उन तक पहुंचाया।”

कुछ ड्राइवर गुरुद्वारे में आए और अपने साथियों के लिए खाना भी लाए। गिल ने कहा कि इलाके के पूरे सिख समुदाय ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़़ाया।

Volunteers pack meals
वैंकूवर, बी.सी. में गुरु नानकज़ फ्री किचन में जरूरतमंदों के लिए भोजन तैयार करते व्लंटीयर। (तस्वीरः गुरु नानकज़ फ्री किचन)

कुछ दिन पहले वैंकुवर में गुरु नानकज़ फ्री किचन में बड़ी मात्रा में खाना बनाया गया था। बाढ़ से प्रभावित लोगों को भोजन और रसद हेलीकॉप्टर से पहुंचाई गई।

एक व्लंटीयर इंदी पंछी ने कहा कि चैरिटी में 400 से अधिक व्लंटीयर थे, जिनमें सिख धर्म के अलावा अन्य सभी धर्मों के लोग भी शामिल थे।

कुछ लोगों की मदद से हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की गई और व्लंटीयरों ने प्रभावित समुदायों को वाहनों द्वारा भोजन वितरित किया।

उन्होंने कहा, “हम गुरु नानक के सिद्धांत ‘सब से प्यार करो, सबको खाना दो‘ का पालन करते हैं। हमारा लक्ष्य जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराना है, जिनमें ट्रक ड्राइवर और बाढ़ पीड़ित भी शामिल हैं।”

चैरिटी में कई विशेषज्ञ रसोइये और वाहन हैं। पंछी ने कहा, “कोई भी पैसे के लिए काम नहीं कर रहा है, वे सभी व्लंटीयर हैं। सिक्खों की दरियादिली से हमें भोजन के लिए भी बहुत दान भी मिला। हम दो घंटे में 800-900 लोगों को खाना खिला सकते हैं।”

देश भर में, ओंटारियो सिखज़ एंड गुरुद्वारा कौंसल की गुरुवार रात बैठक हुई जिसमें दान इकट्ठा करने पर निर्णय लिया गया। यह फंड बी.सी. में आधारित खालसा एड और गुरु नानकज़ फ्री किचन जैसी संस्थाओं को भेजा जाएगा।

इंद्रजीत सिंह जगराओं ने कहा कि बैठक में गुरुद्वारों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

उन्होंने कहा, “आज (शुक्रवार) गुरु नानक का जन्मदिन है और कई लोग गुरुद्वारों में आएंगे। मंचों से दान की घोषणा की जाएगी। हम शनिवार और रविवार को चंदा इकट्ठा करेंगे।”

सिख मोटरसाइकिल क्लब आफ ओंटारियो के अध्यक्ष जगराओं ने कहा कि सप्ताहांत में बाइकर्स भी प्रभावित लोगों के लिए चंदा इकट्ठा करने में मदद कर रहे हैं।