इमरजेंसी एक्ट के तहत आज़ादी काफिले के प्रदर्शनकारियों पर बीमा निलंबन, खाते फ्रीज होने की तलवार लटकी

आज़ादी काफिले के प्रदर्शनकारियों द्वारा ओटावा पर किए कब्ज़े और कई बॉर्डर क्रासिंग की घेराबंदी को खत्म करने की कोशिश में फैडरल सरकार ने इतिहास में पहली बार आपातकाल की घोषणा कर दी है।

आज़ादी काफिले के प्रदर्शनकारीयों ने 29 जनवरी से लेकर डाउनटाउन ओटावा पर कब्जा किया हुआ है। (फाइल फोटोः मैडलिन होयट)

इस कदम से फैडरल सरकार को घेराबंदी हटाने, प्रदर्शनकारियों के खातों को फ्रीज करने और क्राउडफंडिंग कंपनियों पर आतंकवादी वित्तपोषण नियम लागू करने की शक्ति देता है। इस पैसे का इस्तेमाल प्रदर्शनकारियों के समर्थन में किया जा रहा था।

वित्त मंत्री क्रिस्टिया फ्रीलैंड ने एक संबंधित न्यूज़ कानफरंस में कहा, “यदि आपके ट्रक का उपयोग इन अवैध घेराबंदी के लिए किया जा रहा है, तो आपके कॉर्पोरेट खाते फ्रीज कर दिए जाएंगे, आपके वाहन पर बीमा निलंबित कर दिया जाएगा, आपने सैमी-ट्रेलरों को घर भेज दें। कैनेडीयन अर्थव्यवस्था को उनके काम की जरूरत है।”

सरकार ने यह कदम 29 जनवरी को देश की राजधानी में लगातार कब्जा कर बैठे सैकड़ों ट्रकों को देखते हुए उठाया है। ओंटारियो ने भी प्रदर्शनकारियों द्वारा एंबेसडर ब्रिज की एक सप्ताह की घेराबंदी के बाद 11 फरवरी को आपातकाल घोषित कर दिया। दो दर्जन प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद कैनेडा का यह सबसे व्यस्त पुल फिर से खुल गया है।

प्रदर्शनों में कूट्स, अल्बर्टा और इमर्सन, मेनिटोबा में बॉर्डर को लगातार रोककर रखा हुआ है, जबकि प्रदर्शनकारियों को एडमिंटन, टोरंटो, क्यूबेक सिटी और कई अन्य शहरों में भी देखा गया है।

कूट्स की घेराबंदी जारी रहने के दौरान, अल्बर्टा के आर.सी.एम.पी. ने 14 फरवरी को 11 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तारी कर लिया। उनके पास से 13 लॉन्ग गन, हैंडगन, गोली-रोधी कवच, उच्च क्षमता मैगजीन और भारी मात्रा में गोलियां बरामद हुईं। यह घटना आपातकाल लागू होने से पहले की है।

ये विभिन्न काफिले महामारी-संबंधित तमाम तरह की पाबंदियों का विरोध कर रहे हैं।

अटॉर्नी जनरल डेविड लैमेटी ने कहा, “पिछले कई हफ्तों में, अवैध घेराबंदी और कब्जों ने पूरे कैनेडा में कई समुदायों की शांति भंग कर दी है, और हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया है। आज आपातकाल की घोषणा सीमित समय के लिए एक अतिविशेष कदम है, और यह सुनिश्चित करेगा कि हम अपने समुदायों में शांति लाएं।”

कृषि मंत्री मैरी-क्लाऊड बीबेओ ने कहा, “वर्तमान में अपने काम में लगे एवं रोज स्पलाई चेन को चलता हुआ रखने के लिए आवश्यक काम करने वाले बड़ी संख्या में ट्रकर्स को मैं धन्यवाद देना चाहती हूं।” उन्होंने कहा कि घेराबंदी के कारण पशुधन और जल्द खराब होने वाले सामान की आमदन खतरे में हैं।

“हम सभी कैनेडीयन लोगों के विरोध के अधिकार का सम्मान करते हैं, लेकिन प्रमुख बॉर्डर क्रॉसिंग पर अवैध घेराबंदी समाप्त होनी चाहिए। हमारे मेहनती ट्रकर हमारी कृषि और खाद्य स्पलाई चेन को सुचारू रूप से चलाने और हमारी अर्थव्यवस्था की दक्षता के लिए महत्वपूर्ण हैं।”

सी.टी.ए. द्वारा स्वागत

कैनेडा के सबसे बड़े ट्रकिंग एसोसिएशन ने आपातकाल की घोषणा का स्वागत किया है।

कैनेडियन ट्रकिंग एलायंस के अध्यक्ष स्टीफन लास्कोअस्की ने कहा, “इन अवैध घेराबंदियों का हमारे सदस्यों और ग्राहकों के व्यवसाय पर विनाशकारी प्रभाव पड़ा है। इन घेराबंदी का हमारे पेशेवर ड्राइविंग समुदाय पर भी विनाशकारी प्रभाव पड़ा है। घेराबंदी के पीड़ितों को हमारी सीमाओं और महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे पर व्यवस्था बहाल करनी चाहिए।”

हालांकि, कई प्रीमियरों ने कहा कि उनके अधिकार क्षेत्र में नियमों की कोई आवश्यकता नहीं है, और उन्होंने चिंता व्यक्त की कि फैडरल सरकार का यह कदम आग में तेल डालने का काम करेगा।

मेनिटोबा के प्रीमियर हीथर स्टीफेंसन ने अपने एक बयान में कहा, “एमर्सन सीमा विंडसर से बहुत अलग है। जबकि ओंटारियो में स्थिति और भी अधिक भिन्न है, फैडरल सरकार का यह उपाय केवल उस माप और अनुपात के आधार पर प्रयोग किया जाना चाहिए, और जहां वास्तव में इसकी आवश्यकता है।”

ओंटारियो ने पहले 400-श्रृंखला वाले हाईवे, हवाई अड्डों और रेलवे सहित प्रमुख बुनियादी ढांचे को रोककर बैठे लोगों पर 100,000 डालर का जुर्माना लगाने, एक साल तक की जेल, और कमर्शीयल एवं व्यक्तिगत लाइसेंस जब्त करने की घोषणा की थी।