ट्रक ड्राइवरों के अधिकारों के बारे में प्रचार करने वाला

लुंबा का कहना है कि कंट्रैक्ट को समझना महत्वपूर्ण है

दीपिंदर लुंबा एक राज़ साझा करना चाहते हैं। उनका कहना है कि अदालत के 90 प्रतिशत फैसले ट्रांसपोर्ट कंपनियों के नहीं, ड्राइवरों के पक्ष में होते हैं।

इस लाइसेंस प्राप्त पैरालीगल का कहना है, “ड्राइवरों को किसी भी चीज़ से डरने की जरूरत नहीं है।”

दीपिंदर लुंबा अपने ब्रैम्पटन, ओंटारियो स्थित अपने दफतर में। तस्वीरः लीयो बारोस

ब्रैम्पटन, ओंटारियो में प्रैक्टिस करने वाले लूूंबा का कहना है कि कई नए ट्रक ड्राइवर हाल के अप्रवासी और वर्क परमिट वाले पूर्व छात्र हैं और अपने अधिकारों से अनजान हैं। कभी-कभी, भुगतान न करने और कंट्रैक्ट से जुड़े मुद्दे उत्पन्न होते हैं।

लूंबा का कहना है कि किसी भी परिस्थिति में वेतन नहीं रोका जा सकता है, और कुछ ड्राइवर इससे अनजान हैं।

ट्रक ड्राइवरों को पूरा कंट्रैक्ट (अनुबंध) पढ़ना चाहिए। लूंबा सलाह देते हैं, ‘‘उन्हें बिना पढ़े किसी भी चीज़ पर हस्ताक्षर नहीं करना चाहिए, भले ही इसमें उन्हें चार घंटे या पांच घंटे भी लगें।‘‘ यदि वे अनुबंध को नहीं समझते हैं तो उन्हें सपष्टीकरण के लिए दस्तावेज वकील या पैरालीगल के पास लेकर जाने का भी अधिकार है।

लूंबा का कहना है कि अगर उन्हें कुछ समझ में नहीं आता है, तो उन्हें एक अनुबंध देने वाले से स्पष्टीकरण मांगना चाहिए। और अगर उन्हें यह नहीं मिलता है, तो उन्हें इस बात का रिकॉर्ड रखना चाहिए कि दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए गए लेकिन बाद में इसकी व्याख्या की जाएगी।

मूल रूप से भारत के लूंबा 2001 में अफ्रीका में एक बिज़नेस एग्जीक्यूटिव के रूप में काम करने के बाद 2001 में कैनेडा पहुंचे।

वे कहते हैं, ‘‘मैंने अपने कार्यक्षेत्र में नौकरी खोजने की कोशिश की, लेकिन उस समय यह बहुत मुश्किल था।‘‘ उन्हें एक कॉल सेंटर और एक सुरक्षा कंपनी में नौकरी मिल गई।

लूंबा को कानूनी संदर्भ में अधिकारों और जिम्मेदारियों के आपस में टकराव का प्रत्यक्ष अनुभव हुआ।

2005 में, एक सुरक्षा कंपनी के लिए काम करते हुए, उन्हें निर्माणाधीन होम डिपो स्टोर की सुरक्षा की देखरेख करने के लिए नियुक्त किया गया था।

यद्यपि स्थल पर हार्डहैट पहनने की आवश्यकता के संकेत लगे थे, लूंबा ने इसे नहीं पहना क्योंकि यह उन्हें पगड़ी पहनने से रोकता था, जो उनके धर्म का हिस्सा है।

लूंबा ने कहा, “मैं निर्माण में शामिल नहीं था और मैं उस क्षेत्र में नहीं जा रहा था जहां निर्माण हो रहा था।”

इसके कारण स्टोर के सहायक प्रबंधक के साथ बहस भी हुई, जिन्होंने व्यावसायिक स्वास्थ्य और सुरक्षा अधिनियम के तहत हार्डहैट सुरक्षा की आवश्यकता पर बल दिया। लूंबा को नौकरी से निकाल दिया गया और उन्हें काम के घंटों में कमी का सामना करना पड़ा।

जून 2020 के एक फैसले में, ओंटारियो मानवीय अधिकार ट्रिब्यूनल ने पाया कि लूंबा के साथ भेदभाव किया गया था – उन्हें केवल पगड़ी पहनने के कारण नकारात्मक व्यवहार का सामना करना पड़ा। लूंबा ने कहा, “उन्होंने मुझे मुआवजा दिया और मेरे खर्चों का भुगतान किया।”

लूंबा, जिसने 2002 में अपना इमिग्रेशन डिप्लोमा प्राप्त किया था, लीगल प्रोसैसिंग एवं आउटसोर्सिंग में भी शामिल थे। उन्होंने अपनी पैरालीगल की पढ़ाई पूरी की और 2012 में प्रैक्टिस शुरू की।

लूंबा का कहना है कि दुर्घटना की स्थिति में ड्राइवर कोई भुगतान के लिए उत्तरदायी नहीं होता है। वह आगे कहते हैं कि यदि नियोक्ता बीमा कंपनी को सूचित करने में विफल रहता है और ड्राइवर पर भुगतान करने के लिए दबाव डालता है, तो कानूनी सलाह लेनी चाहिए।

उनका कहना है कि ड्राइवरों के वेतन से बीमा प्रीमियम काटना भी अवैध है।

लूंबा का कहना है कि इलेक्ट्रॉनिक लॉगिंग डिवाइस ड्राइवरों को आवंटित घंटों से अधिक समय तक काम करने के लिए मजबूर न होने देकर उनका शोषण रोकेंगे।

नए अप्रवासियों को भी निर्वासन के खतरे के बारे में चिंता नहीं करनी चाहिए। लूंबा कहते हैं, “यदि कोई कानूनी रूप से देश में दाखिल हुआ है, तो कोई भी व्यक्ति उस व्यक्ति  को निर्वासित नहीं कर सकता, जब तक कि उसे कैनेडा की अदालत दोषी नहीं मान लेती।”

उनका कहना है कि ट्रांसपोर्ट कंपनियों को भी अच्छी सलाह लेने की जरूरत है। कुछ कंपनियां ज्यादा परवाह नहीं करती हैं क्योंकि वे जानती हैं कि ज्यादातर कर्मचारी या पूर्व कर्मचारी उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना चाहिए।

लूंबा वेतन, बीमा और अन्य मुद्दों पर टिक-टोक वीडियो बनाते हैं। वे कहते हैं, “सोशल मीडिया, यू-ट्यूब, रेडियो और मीडिया ट्रकर्स को उनके अधिकारों के बारे में संदेश देने के लिए बहुत बढ़िया मंच हैं।”

 

लीयो बारोस द्वारा